Don't Miss
Home 5 राज्य 5 उत्तर प्रदेश 5 कुंभमेला 2019 : 10 फरवरी के बाद अयोध्या कूच व 21 को शिलान्यास का प्रस्ताव पारित

कुंभमेला 2019 : 10 फरवरी के बाद अयोध्या कूच व 21 को शिलान्यास का प्रस्ताव पारित

गंगा सेवा अभियानम शिविर में परम धर्म संसद का आयोजन शंकराचार्य स्‍वामी स्‍वरूपानंद सरस्‍वती की मौजूद में हुआ। इसमें अयोध्‍या कूच व राम मंदिर शिलान्‍यास का प्रस्‍ताव पारित हुआ।

कुंभ नगर : श्रीराम जन्मभूमि अयोध्या में राम मंदिर के लिए शिलान्यास करने संतों व श्रद्धालुओं का जत्था वसंत पंचमी के बाद रवाना होगा। सभी अयोध्या पहुंचकर फाल्गुन कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि पर 21 फरवरी को मंदिर के लिए विधि-विधान से शिलान्यास करेंगे। यह निर्णय कुंभनगरी प्रयाग में शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती के मार्गदर्शन में चल रही परमधर्म संसद में लिया गया।  

जेल जाएंगे, गोली खाने को तैयार : स्‍वामी स्‍वरूपानंद
 गंगा सेवा अभियानम् के शिविर में चल रही तीन दिवसीय परमधर्म संसद के अंतिम दिन बुधवार को शंकराचार्य ने कहा कि राम मंदिर के लिए जेल जाना पड़ेगा तो जाएंगे, गोली खाने के लिए भी तैयार हैं। लेकिन राम मंदिर बनाकर ही रहेंगे।

कहा, किसी ने व्‍यवधान डाला तो बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा
शंकराचार्य स्‍वामी स्‍वरूपानंद ने कहा कि राम मंदिर के कार्य में सत्ता के तीनों अंग में किसी ने व्यवधान डाला तो उसे बर्दास्त नहीं किया जाएगा। राम जन्मभूमि विवाद का निर्णय न होने तक व राम जन्मभूमि प्राप्त न होने तक हिंदू समाज चार इष्टिकाओं को अयोध्या ले जाकर वेदोक्त इष्टिका न्यास का पूजन करेंगे। यह काम अनवरत चलता रहेगा। शंकराचार्य ने कहा कि न्यायपालिका में राम मंदिर को लेकर निर्णय आने में विलंब होता देख संत व हिंदू धर्मावलंबी सरकार से उचित निर्णय की आस लगाए बैठे थे।

काशी की परमधर्म संसद में सरकार ने आश्‍वासन दिया था
शंकराचार्य ने कहा कि काशी में हुई परमधर्म संसद में सरकार से राम मंदिर निर्माण के लिए उचित कदम उठाने की अपील की गई थी। परंतु वैसा हुआ नहीं, प्रचंड बहुमत से सत्ता में आयी सरकार ने दो दिनों में संसद के दोनों सदनों में आरक्षण संबंधित विधेयक पारित कराकर अपनी शक्ति का प्रदर्शन किया। हालांकि श्रीरामजन्म भूमि में मंदिर निर्माण को लेकर कुछ भी करने व कहने से इन्कार कर दिया।

बोले, पीएम अपने बयान में काबिज नहीं रह सके
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने एक साक्षात्कार में कहा था कि न्याय की प्रक्रिया पूरी होने के बाद जब उनकी बारी आएगी तब अपनी भूमिका का निर्वाहन करेंगे। हालांकि वह अपने बयान में काबिज नहीं रह सके। कल ही उन्होंने न्याय प्रक्रिया में हस्तक्षेप करते हुए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करवा दिया जिसमें 0.3 एकड़ अर्थात  श्रीराम जन्मभूमि को छोड़कर 67 एकड़ अधिग्रहीत भूमि को मूल मालिकों को वापस देने की बात कही है। वह अधिग्रहीत भूमि को आवंटन कर देना चाहते हैं, जो अनुचित है। संचालन स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने किया।

अखाड़ों के महात्माओं ने दिया समर्थन

परमधर्म संसद में शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद का समर्थन करने अखाड़ों के महात्मा भी पहुंचे। निर्वाणी अखाड़ा के आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी प्रणवानंद ने कहा कि श्रीराम जन्मभूमि हिंदुओं से कोई ताकत छीन नहीं सकती। वह शंकराचार्य का पूरा साथ देंगे। जूना अखाड़ा के स्वामी आनंद गिरि ने कहा कि राम मंदिर को गुजरातियों के गैंग से मुक्त कराना है। स्वामी विश्वेश्वरानंद ने कहा कि नेता ठाठ में और रामलला टाट में नहीं रहेंगे। हम भालू-बंदर की तरह शंकराचार्य के आदेश का पालन करेंगे। वहीं मुस्लिम धर्म के विद्वान सेराज सिद्दीकी ने कहा कि वह तीनों दिन परमधर्म संसद का हिस्सा रहे हैं इसमें इस्लाम के बारे में कुछ नहीं कहा गया।

x

Check Also

ICICI की जांच में चंदा कोचर दोषी साबित, बैंक से होंगी बर्खास्त – सूद समेत लौटानी पड़ेगी बोनस की रकम

करीब एक हफ्ते पहले ही सीबीआई ने वीडियोकॉन लोन मामले में कई जगहों पर छापा मारते हुए चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर समेत अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया था। नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व सीईओ चंदा कोचर को जस्टिस बी एन श्रीकृष्णा समिति ने बैंक के आचार संहिता के उल्लंघन का दोषी पाया है। ऐसे में कोचर का इस्तीफा उनकी बर्खास्तगी का कारण बन सकती है और बैंक उनके बोनस समेत अन्य लंबित भुगतान पर रोक लगा सकता है। रिपोर्ट में कहा गया है, ‘चंदा कोचर ने आईसीआईसीआई की आचार संहिता, हितों के टकराव को रोकने वाले ...

एक महीने में भरे जाएंगे राज्य सूचना आयोग के खाली पद: हाईकोर्ट में सरकार ने दिया जवाब

उत्तर प्रदेश राज्य सूचना आयोग में खाली पड़े सूचना आयुक्तों के पद अगले एक माह में भरे जाएंगे। स्क्रीनिंग कमेटी द्वारा पात्रों के नाम चयनित कर आगे भेज दिया गया है। जिस पर राज्य नियुक्ति समिति बैठक कर अंतिम निर्णय लेगी। ये जानकारी राज्य सरकार के अधिवक्ता ने इलाहाबाद हाईकोर्ट की जस्टिस देवेन्द्र कुमार अरोरा व जस्टिस नरेंद्र कुमार जोहरी की लखनऊ बेंच को दी। गौरतलब है कि राज्य सूचना आयोग में उत्पन्न हुई रिक्तियों के संबंध में सोशल एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने याचिका दायर कर कोर्ट से मामले में निर्देश देने की अपील की थी जिस पर कोर्ट ...

कुंभ 2019: कन्याकुमारी से प्रयागराज तक 52.40 घंटे में आएगी स्पेशल ट्रेन

कुंभ मेले में कन्याकुमारी से प्रयागराज आने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए रेलवे ने कुंभ स्पेशल ट्रेन चलाने का एलान किया है। कन्याकुमारी से प्रयागराज आने वाली यह ट्रेन 52.40 घंटे में यह दूरी तय करेगी। इसका संचालन कन्याकुमारी से चार एवं 11 फरवरी को एवं इलाहाबाद जंक्शन से सात और 14 फरवरी को होगा। कन्याकुमारी से जंक्शन के बीच कुंभ स्पेशल ट्रेन के कुल 43 ठहराव रेलवे ने सुनिश्चित किया है। कन्याकुमारी से गाड़ी संख्या 06057 चार एवं 11 फरवरी की रात 10 बजे चलेगी। जो मुख्य रूप से नगरकोविल, सातूर, मदुरै, चेन्नई, विजयवाड़ा, वारंगल, नागपुर, इटारसी, जबलपुर, कटनी, सतना, मानिकपुर आदि स्टेशनों पर ...

कुंभ की भव्यता के साक्षी बनेंगे 3 हजार प्रवासी भारतीय, तस्वीरों में देखें टेंट सिटी की रौनक

कुंभ में प्रवासी भारतीयों के आगमन पर सुरक्षा के चौक-चौबंद इंतजाम किए जा रहे हैं। 24 जनवरी को तीन हजार से अधिक प्रवासी भारतीयों के यहां पहुंचने की उम्मीद है। प्रवासी भारतीयों के रहने के लिए टेंट सिटी में फाइव स्टार सुविधाओं से लैस शिविर बनाए गए हैं। इस टेंट सिटी को वैदिक टेंट सिटी नाम दिया गया है।